blogid : 317 postid : 339

मोबाइल ऐप्स डाउनलोडिंग बन सकती है मुसीबत

Posted On: 22 May, 2013 टेक्नोलोजी टी टी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

mobile hackingआज के दौर में कंप्यूटर और इंटरनेट 24 घंटे की जरूरत बन गया है. आपको कभी भी, कहीं भी इसकी जरूरत पड़ सकती है. कम्प्यूटर को आप हर जगह ले नहीं जा सकते इसलिए लैपटॉप आया और उससे भी ज्यादा सुविधा देते हुए आज बाजार में स्मार्टफोन आ गए. इस पर आप ईमेल से लेकर, फेसबुक, सर्च इंजन सभी सुविधाएं उठाते हैं पर यह कई बार इतना खतरनाक साबित हो सकता है कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते. एक दिन मेरी मित्र साक्षी ने फोन किया, बहुत परेशान थी. पूछने पर पता चला कि उसने कुछ दिनों पहले ही एक नया स्मार्टफोन लिया था. फोन आ जाने से अब ई-मेल्स चेक करने के लिए उसे बार-बार कम्प्यूटर और लैपटॉप पर जाने की जरूरत नहीं थी. इसलिए उसने फोन में अपने जरूरी पासवर्ड सेव कर दिए ताकि बार-बार डालने की जरूरत न पड़े. इसके अलावे भी वह अकसर नए ऐप्स डाउनलोड किया करती थी. एक दिन पता चला कि उसके मेल अकाउंट का पासवर्ड, फेसबुक पासवर्ड के अलावे फोन से भी उसके कई पिक्चर्स हैक हो गए थे. बाद में पता चला कि उसने जो ऐप्स डाउनलोड किए थे उन्हीं में से में एक वाइरस थे और उसी के माध्यम से हैकर ने उसकी कई महत्वपूर्ण जानकारी और दस्तावेज चुरा लिए थे.


आप सोचेंगे ऐसा कैसे? पर सच है कि स्मर्टफोन (smartphone) के आने से इसकी उपयोगिता और इस पर आपकी निर्भरता हैकरों के लिए आपकी जानकारियां चुराने का आसान माध्यम बन रहा है. आज के स्मार्ट मोबाइल फोन्स इंटरनेट से जुडी लगभग सुविधा आपको देते हैं. मोबाइल ऐप्स इसमें आपके मददगार होते हैं. मोबाइल ऐप्स आपको मोबाइल रिचार्ज करने से लेकर फोन बिल अदा करने और रेलवे की टिकट बनाने तक की सुविधा उपलब्ध कराते हैं. आपका मोबाइल स्टोर कई फ्री और चार्ज वाले मोबाइल ऐप्स की सुविधा देता होगा. आप इसे डाउनलोड भी करते होंगे. पर विशेषज्ञों के अनुसार यही ऐप्स आपकी मोबाइल डाटा के चुराए जाने का खतरा पैदा कर सकते हैं. कई ऐप्स वास्तव में वाइरस होते हैं और आपको पता नहीं होता. ये ऐप्स आपके मोबाइल में स्टोर होकर कई पासवर्ड, मोबाइल में सेव किए एटीएम पिन, फोटोग्राफ्स आदि आपकी निजी जानकारियों तक हैकर्स की पहुंच बनाते हैं और इस तरह आपकी गोपनीय जानकारियां हैक हो जाती हैं.


अपने स्मार्ट मोबाइल फोन के माध्यम से इस प्रकार की हैकिंग से बचने के लिए आप कुछ सावधानियां बरत सकते हैं:

i) अपने फोन में बहुत गोपनीय जानकारियां सेव कर न रखें;

ii) ई-मेल अकाउंट व फेसबुक (facebook), ट्विटर (twitter) जैसी सोशल साइट्स के पासवर्ड भी सेव करने से बचें. थोड़ा समय बचाने के चक्कर में आप अपनी कीमती जानकारियां खो सकते हैं. कोई आपका सोशल अकाउंट हैक कर उसका गलत इस्तेमाल कर सकता है. ऐसे ही मेल अकाउंट का भी कोई गलत उपयोग कर सकता है. मोबाइल में इंटरनेट के उपयोग में सावधानियां बरतें. जब जरूरत हो केवल तभी इंटरनेट ऑन करें.
iii) फ्री ऐप्स डाउनलोड (free apps download) करने से बचें या नए ऐप्स जिनकी ऐप्लिकेशंस के बारे में आपने कभी सुना न हो, डाउनलोड करने से बचें. ये ऐप्स के रूप में वायरस हो सकते हैं.
iv) आप यह मानकर चलें कि जिस फोन को आप कम्प्यूटर के विकल्प के रूप में उपयोग कर रहे हैं वह हकीकत में भी कम्प्यूटर का एक छोटा रूप (mini computer) ही है और इसकी सुरक्षा के लिए भी आपको कम्प्यूटर की सुरक्षा के जितनी ही सजगता की जरूरत है. इसलिए अपने स्मार्टफोन में एंटीवायरस जरूर इंस्टॉल करें. यह संदिग्ध ऐप्स या अन्य असुरक्षित साइटों के लिए आपको पहले ही एलर्ट कर देगा.
v) अनजान वाई-फाई कनेक्शन्स से अपने फोन को कनेक्ट करने से बचें.


Tags: फ्री ऐप्स डाउनलोड (free apps download), mini computer, ई-मेल अकाउंट, फेसबुक (facebook), ट्विटर (twitter), स्मर्टफोन (smartphone), mobile hacking, mobile virus, mobile antivirus, mobile antivirus security pro





Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Keli के द्वारा
May 28, 2016

This inrmtoafion is off the hizool!

Boston के द्वारा
May 28, 2016

Looks like so much fun. Love the color and images. Also, I love the images below of your da82ther&#ug30;she is stunning and I can’t wait for spring! Love all your work!


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran