blogid : 317 postid : 572310

अब ब्लैकबेरी की सर्विस एंड्रायड के लिए भी

Posted On: 29 Jul, 2013 Technology में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

ब्लैकबेरी मैसेंजर के दीवानों के लिए एक खुशखबरी है. फेसबुक पर दोस्ती की और फिर बातों का सिलसिला ऑनलाइन से अलग हटकर मोबाइल फोन पर शुरू हो गया. अभी तक आप अपने ऑनलाइन दोस्तों को आप वाट्सएप और अन्य एंड्रायड एप्स की मदद से मैसेज भेजते होंगे. लेकिन इसके लिए आपको उनके साथ अपना पर्सनल नंबर सांझा करना पड़ता है जो हर किसी को पसंद नहीं आता. ऐसे में ब्लैकबेरी मैसेंजर आपके लिए फायदे का सौदा कहा जा सकता है क्योंकि बीबीएम पर बात करने के लिए आपको अपने दोस्तों को अपना नंबर नहीं बल्कि सिर्फ बीबीएम पिन देना होता है. लेकिन जैसा की सभी जानते ही हैं कि अभी तक बीबीएम सर्विस सिर्फ ब्लैकबेरी फोन धारकों को ही उपलब्ध थी लेकिन अब खुशखबरी यह है कि जल्द ही एंड्रायड और आइओएस पर भी यह उपलब्ध होने वाला है.


भारत में ब्लैकबेरी के प्रबंध निदेशक सुनील लालवानी के अनुसार जल्द ही ब्लैकबेरी कंपनी आइओएस और एंड्रायड के लिए भी मुहैया करवाने जा रही है और जल्द ही यानि गर्मियां खत्म होने से पहले ही यह सर्विस लॉंच कर दी जाएगी.  सुनील के अनुसार अमेरिका में गर्मियां सितंबर तक चलती है इसीलिए आगामी सितंबर 2013 तक एंड्रायड फोन और आइओएस के लिए भी बीबीएम सर्विस उपलब्ध करवा दी जाएगी.


वैसे एंड्रायड में मौजूद प्लेस्टोर से आप वाट्सएप, लाइन, वी चैट जैसी एप्स डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन इसके जरिए अपने दोस्तों से बात करने के लिए आपको अपने दोस्तों का नंबर पता होना चाहिए और आपके दोस्तों को आपका. लेकिन कई बार ऐसा होता है कि लोग अपने फेसबुक फ्रेंड्स के साथ नंबर साझा नहीं करना चाहते. ऐसे में फेसबुक से इतर बीबीएम पिन काम का होता है जिसपर सिर्फ मैसेज ही आ सकते हैं, आपको कोई कॉल करके परेशान नहीं कर सकता. ऐसे में अगर आप उस संबंधित व्यक्ति से बात नहीं करना चाहते या अब आपको उसमें कोई दिलचस्पी नहीं बची तो सिंपल है आप उनके मैसेज का जवाब देना बंद कर सकते हैं, वो आपको कॉल कर-कर परेशान तो कर ही नहीं सकता.




Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Channery के द्वारा
May 28, 2016

Minä olen 27 vuotias lievästi keeinysvammaithn nainen siis lievästi kehitysvammaisen ylärajoilla, enkä nyt osaa sanoa että olenko sen onnellisempi tai kummempi kuin ns normaalit? Asun itsenäisesti, hoidan raha-asiat itsenäsesti, matkustelen itsenäisesti. Olen jopa yrittänyt tavalliseen työ elämään mutta on todetu että työkeskus on mulle parempi vaihtoehto. Miksi siis en saisi elää? Siksikö että olen lievästi kehitysvammainen ja käyn työtoiminnassa? Mekin voimme olla suht taviksia kunhan ssaamme siihen mahdollisuuden.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran