blogid : 317 postid : 575166

मौसम के बदलने के साथ-साथ बढ़ती हैं आपराधिक वारदातें

Posted On: 4 Aug, 2013 Technology में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

देश-विदेश कहीं भी चली जाएं लेकिन महिलाएं कहीं भी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर पाती हैं. हमारे देश के महानगरों में तो महिलाओं के हालात वाकई चिंताजनक होते जा रहे हैं. दिन हो या रात किसी भी समय महिलाएं अपनी सुरक्षा को लेकर आश्वस्त नहीं रह पाती हैं. यूं तो आपराधिक घटनाओं का शिकार महिलाओं को ज्यादा बनाया जाता है लेकिन उतना ही सच यह भी है कि पुरुषों के सिर पर भी जान और माल का खतरा हमेशा बरकरार ही रहता है.


साइंस पत्रिका द्वारा हुए एक अध्ययन और संबंधित रिपोर्ट की मानें तो हत्या और बलात्कार की घटनाओं का बढ़ना-घटना मौसम पर भी बहुत अधिक निर्भर करता है. हो सकता है आपको यह सभी बातें बेकार की प्रतीत हो रही हों लेकिन सच यही है कि अमेरिकी वैज्ञानिकों ने अपने एक अध्ययन में यह स्थापित किया है कि तापमान का घटना या जलवायु में हलकी सी भी गिरावट आने से आपराधिक घटनाओं में वृद्धि होती है.


कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (अमेरिका) से संबद्ध शोधकर्ताओं द्वारा हुए इस अध्ययन से संबंधित रिपोर्ट के नतीजों के आधार पर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि वैश्विक स्तर के तापमान में दो सेंटीग्रेड की बढ़ोत्तरी होने से व्यक्तिगत आपराधिक घटनाओं में 15 प्रतिशत की वृद्धि होती है और सामूहिक आपराधिक घटनाएं 50 प्रतिशत तक बढ़ सकती हैं. इतना ही नहीं जलवायु परिवर्तन के हालिया घटनाक्रम के अनुसार अगर ऐसे ही हालात रहे तो आपराधिक घटनाएं बहुत ज्यादा बढ़ जाएंगी.


इस अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता मार्कले बर्क का कहना है कि इस अध्ययन के दौरान विभिन्न काल खण्डों और अलग-अलग महाद्वीपों का अध्ययन करने के बाद यह पाया गया है कि जलवायु में होने वाले परिवर्तन और सामाजिक हिंसा के बीच बहुत गहरा संबंध होता है.


इस शोध के अंतर्गत मंदी और सूखे के दौर में भारतीय जमीन पर होने वाली घरेलू हिंसा और लू के मौसम में अमेरिका में चोरी-चकारी, बलात्कार और हत्या के मामले बढ़ जाते हैं.


अब मौसम का हत्या, बलात्कार के साथ ऐसा भी संबंध है यह पहली बार सुना है लेकिन अगर ऐसा है तो इसका अर्थ है कि अन्य मौसमों में किसी भी तरह की आपराधिक घटनाएं नहीं होतीं.




Tags:               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Lucy के द्वारा
May 28, 2016

16a1043515aMy spouse and I absolutely love your blog and find many of your post’s to be exactly what I’m looking for. Would you offer guest writers to write content for you? I wou#nd&l8217;t mind producing a post or elaborating on many of the subjects you write about here. Again, awesome web site! 154


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran