blogid : 317 postid : 720619

‘टच’ के बाद अब और क्या?

  • SocialTwist Tell-a-Friend

टेक्नॉलोजी ने लाइफ बहुत आसान बनाया है. बिजली, पानी, परिवहन जैसी सुविधाएं तो हैं ही लेकिन फोन, कंप्यूटर और टेलीविजन जैसे गैजेट्स जब से आम जिंदगी में आए हैं तब से इस टेक्नॉलोजी का जादू हर दिन एक नए रूप में नजर आता है. पहले थे साधारण फोन, और बड़े बॉक्स कंप्यूटर-टेलीविजन जिसमें तार और बड़ी जगह घेरने की बहुत बड़ी असुविधा थी. फिर मोबाइल, लैपटॉप और फ्लैट स्कीन टीवी ने इन्हें पीछे छोड़ दिया. खासकर मोबाइल फोन में स्मार्ट फोन के आने के बाद तो पूरी तस्वीर ही बदल गई. टच स्क्रीन फोन और लैपटॉप आने के बाद शायद अब आप सोच रहे होंगे कि इससे ज्यादा और क्या सकता है? लेकिन हो सकता है?


‘टच’ टेक्नॉलोजी के फोन, टैबलेट, लैपटॉप आने के बाद अब माइक्रोसॉफ्ट ‘नो टच’ टेक्नॉलोजी पर काम कर रहा है. ‘नो टच’ टेक्नॉलोजी का मतलब मार्केट से टच टेक्नॉलोजी को हटाकर वापस पहले की तरह बटन सिस्टम पर काम करने का दौर वापस लाना नहीं है बल्कि इस नो टच में आप आपको ऐसी तकनीक मिलेगी जिसमें आपको अपने गैजेट्स को ऑपरेट करने के लिए उसे साथ रखने की भी जरूरत नहीं होगी. अपने पास अपना मोबाइल, लैपटॉप, टीवी नहीं होने के बाद भी कहीं दूर से भी बस अपनी अंगुलियां हिलाकर आप उसे ऑपरेट कर सकते हैं.


microsoft

अगर इंटरनेट ही न हो तो….


इस तकनीक को विकसित कर रही माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार वह एक ऐसा स्क्रीन बनाने पर काम शुरू कर चुकी है जिसे बिना टच किए भी ऑपरेट बस हाथों के इशारे से चला सकते हैं. इसके लिए बस एक ब्रेसलेट हाथों में पहनने की जरूरत होगी, फिर आप किसी दूसरे कमरे में बैठकर भी अपने हाथों के इशारों से टीवी, कंप्यूटर ऑपरेट कर सकते हैं. मोबाइल पर आने वाले कॉल रिसीव कर सकते हैं, उसके दूसरे फंक्शंस दूर से बैठे-बैठे बिना गैजेट को छुए यूज कर सकते हैं. इस ब्रैसलेट की तकनीक कुछ तरह होगी कि हाथों में पहने होने पर यह हाथों, अंगुलियों के हर मूवमेंट को पढ़ते हुए गैजेट्स को एक निश्चित दूरी से गैजेट्स को ऑपरेट किया जा सकता है. अगले 2 से 5 सालों में यह ‘नो टच’ तकनीक मार्केट में आ जाने की उम्मीद है. तो अब अगर कोई पूछे कि ‘टच’ के बाद नेक्स्ट क्या? तो समझ जाइए विज्ञान का एक और जादू आपको जादूगर बनाने आ रहा है.

कौन कहता है फेसबुक इंटरनेट से ही चलता है?

मिक्सर में बनेगा शराब और प्रिंटर में बर्गर

खा-पीकर करें वजन कम!!

Web Title : next-gen no-touch screens technology



Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

843 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Kaedon के द्वारा
May 28, 2016

There is a critical shortage of initrmaofve articles like this.

PRAKASH KUMAR PRAMANIK के द्वारा
November 23, 2014

WOW! WHAT AN IDEA. यह साइड मेरे लिए बहुत – बहुत लाभदायक है

    Lyzbeth के द्वारा
    May 28, 2016

    Ok, wenn die Leute zu groß werden stimmt das.Aber z.B. bei einem Mittelgewicht wie SFdebris kann man aufgrund der nicht so großen Popularität schon heimisch werden, da man irgendwann auch die treuesten Kommentatoren kennt.Bei Mr.Plinkett oder dem AneyoVidgrGameNerd macht das aber keinen Sinn, da man einen Comment hinterlässt, dieser aber von keinem wirklich gelesen werden kann, da er innerhalb von 20 Sekunden wieder am Seitenende ist.

manish के द्वारा
May 28, 2014

mujhe

    Cade के द्वारा
    May 28, 2016

    Thank you for another excellent write-up. Exactly where else could anybody get that kind of data in this kind of a perfect way of writing? I’ve a prtisntaeeon subsequent week, and I am towards the appear for such info and facts.

manish के द्वारा
May 28, 2014

bahut hi achee jankaree milati hai

    Chynna के द्वारा
    May 28, 2016

    Nohintg I could say would give you undue credit for this story.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran